Unilever logo

कपड़ों को सुखाने में हो जाते हैं परेशान? ऑटोमैटिक वॉशिंग मशीन से बनाएं इसे आसान!

क्या आपके घर में सेमी-ऑटोमैटिक वॉशिंग मशीन है, जिसकी कपड़े सुखाने की प्रक्रिया से आप परेशान हैं? तो ऑटोमैटिक वॉशिंग मशीन का चुनाव कर आप अपनी इस परेशानी को हल कर सकते हैं।

अपडेट किया गया

विज्ञापन
Buy Surf Excel Matic
Here’s How Choosing an Automatic Washing Machine Makes Drying Clothes Simpler

अगर आपके घर में भी सेमी-ऑटोमैटिक वॉशिंग मशीन है तो बेशक़  आप इसकी कपड़े सुखाने की प्रक्रिया से परेशान होंगे या ये कहें कि इसमें कपड़े सुखाने की प्रक्रिया यक़ीनन आपको उबाऊ लगती होगी। ऐसे में अगर आप दूसरी वॉशिंग मशीन ख़रीदने के बारे में सोच रहे हैं, तो ऑटोमैटिक वॉशिंग मशीन आपके लिए बेहतर साबित हो सकती है। आख़िर  ऑटोमैटिक वॉशिंग मशीन में कपड़ों को सुखाना क्यों है आसान? चलिए, जानते हैं। 

वैसे कपड़ों को सुखाने से पहले कपड़ों की अच्छे से धुलाई करना बेहद ज़रूरी है। ऐसे में यदि  आप वॉशिंग मशीन में कपड़े धो रहे हैं, तो सर्फ़ एक्सेल मैटिक लिक्विड का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसे ख़ासकर वॉशिंग मशीन के लिए ही बनाया गया है। यह पानी में आसानी से घुलता है और कपड़ों पर सफ़ेद दाग़ नहीं छोड़ता। इस्तेमाल से पहले पैक पर लिखे हुए निर्देशों को पढ़ें और उनका हमेशा पालन करें।

१) कम मेहनत

सेमी-ऑटोमैटिक वॉशिंग मशीन में कपड़ों को धोने के बाद इसे सुखाने के लिए कपड़ों को वॉशर ड्रम से निकालकर ड्रायर ड्रम में डालना पड़ता है। ज़ाहिर सी बात है ऐसा करने में ज़्यादा मेहनत लगती है। जबकि ऑटोमैटिक वॉशिंग मशीन में सिर्फ़ एक ही ड्रम होता है, जो कपड़े धोने और सुखाने दोनों का काम करता है, इसलिए आपको कपड़ों को इस ड्रम से उस ड्रम में डालने की मेहनत नहीं करनी पड़ती।

२) कम समय

सेमी-ऑटोमैटिक वॉशिंग मशीन के मुक़ाबले ऑटोमैटिक वॉशिंग मशीन के ड्रायर की रफ़्तार तेज़ होती है। यही वजह है कि सेमी-ऑटोमैटिक वॉशिंग मशीन में कपड़ों को सुखाने में ज़्यादा समय लगता है। वहीं ऑटोमैटिक वॉशिंग मशीन में कपड़े जल्दी सूख जाते हैं।

विज्ञापन

३) आरपीएम

ऑटोमैटिक वॉशिंग मशीन में कपड़ों को सुखाने के लिए अलग-अलग सेटिंग्स होती हैं, जिसको रेवोल्यूशन पर मिनट (आरपीएम) कहते हैं। इसे आप कपड़े के फ़ैब्रिक के अनुसार सेट कर सकते हैं। कपड़े अगर नाज़ुक हैं तो आप आरपीएम की सेटिंग को ३००-५०० पर सेट कर सकते हैं। ऐसे ही जीन्स को सुखाने के लिए आरपीएम की सेटिंग १००० पर सेट की जाती है। बता दें कि यह सुविधा सेमी-ऑटोमैटिक वॉशिंग मशीन में नहीं होती है।

४) अधिक क्षमता

सेमी-ऑटोमैटिक वॉशिंग मशीन में कपड़े धोने और सुखाने का ड्रम अलग-अलग होता है। इसका ड्रायर ड्रम, वॉशर ड्रम से छोटा होता है। नतीजतन वॉशर में आप जितने कपड़े धो सकते हैं, उतने आप ड्रायर में सुखा नहीं सकते। आपको दो से तीन बार इन कपड़ों को सुखाना पड़ता है। जबकि ऑटोमैटिक वॉशिंग मशीन में जितने कपड़े आपने धोएं हैं, उतने कपड़ों को आप एक ही बार में सुखा भी सकते हैं।

तो अब ऑटोमैटिक वॉशिंग मशीन घर लाएं और कपड़ों को आसानी से सुखाएं।

मूल रूप से प्रकाशित