आपके ऊनी कपड़ों को साफ करने व उनकी देखभाल के स्मार्ट तरीके!

हम अक्सर यह महसूस ही नहीं कर पाते कि हमारे ऊनी कपड़ें- ऊनी टोपी, स्कार्फ्स, दस्ताने आदि कितने मैले हो सकते हैं, तो हम उन्हें किस तरह से साफ रख सकते हैं? इन सर्दियों में अपनी ऊनी कपड़ों को धोने और उनकी देखभाल करने के स्मार्ट तरीके जानने के लिए पढ़ते रहिए!

अपडेट किया गया

ऊनी वस्त्रों की धुलाई और देखभाल
विज्ञापन
Surf Excel Matic Liquid

हमारे सर्दियों के कपड़े और अन्य सहायक कपड़े पूरे सर्दियों के मौसम में बारंबार उपयोग होते हैं, लेकिन हम उन्हें अक्सर नहीं धो पाते। 

और ईमानदारी से कहें तो, हमारे ऊनी कपड़ें जैसे स्कार्फ्स, दस्ताने, टोपी आदि को जब धोने की बात आती है तो हम अक्सर दोबारा सोचते तक नहीं हैं। कई बार तो, वो लॉन्ड्री बास्केट में तक नहीं मिलते क्योंकि वे जैकेट्स की पॉकेट या हैंडबैग में कहीं डाले हुए रहते हैं, जिसकी वजह से उन्हें हम आसानी से भूल भी जाते हैं। 

लेकिन, हमने देखा है कि ये कपड़ें ना केवल बर्फबारी, मैल और ठंड का सामना करते हैं, बल्कि साथ ही ये चेहरे के तेल, पसीने के संपर्क में भी आते हैं और अगर इनकी नियमित अंतराल पर धुलाई और देखभाल नहीं की जाए तो इनमें कीटाणु पनप सकते हैं। 

शुक्र है, हम इस सर्दी के मौसम को ताजा और साफ ऊनी सामानों का मौसम बनाने में आपकी मदद करने के लिए यहां हैं।

धारणा की सच्चाई - ऊनी कपड़ों को नहीं धोना चाहिए

विज्ञापन

Surf Excel Matic Liquid

हम अपनी जिंदगी का अधिकांश हिस्सा तो डर कर या यही सोच कर बिता देते हैं कि पानी और डिटर्जेंट के संपर्क में आने पर हमारे ऊनी कपड़े सिकुड़ जाएंगे, रंग खो देंगे, या उनका आकार बिगड़ जाएगा। लेकिन, हमारे अनुभव ने हमें सिखाया कि यह महज एक गलत धारणा है। यहां तक कि अगर एक कपड़ा 100% ऊन से बना है, तब भी अधिकांश मामलों में इन्हें घर पर ही सुरक्षित तरीके से धोया जाता सकता है। 

लेकिन, हमें यह याद रखना ही होगा कि यहां बहुत तरह के ऊन होते हैं, जैसे कि मेरिनो भेड़ का सबसे मजबूत ऊन, मोहेर और सबसे ज्यादा नाज़ुक कश्मीरी और पशमीना, इन सभी को अलग अलग तरीकों से देखभाल की जरूरत होती है। 

इसलिए, गारमेंट केयर लेबल चेक करना हमेशा ही एक अच्छा विचार होता है, ताकि इसकी सुरक्षित धुलाई सुनिश्चित की जा सके। 

The Poll

जब आप ऊनी कपड़ों के लिए डिटर्जेंट खरीदते हैं, आपके लिए क्या सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है?

0 Votes

ऊनी कपड़ों को कितनी बार धोना चाहिए? 

ऊनी कपड़ों का एक फायदा यह है कि, यह हमारे कॉटन या सिंथेटिक कपड़ों की धुलाई की तुलना में वे लंबे समय तक फ्रेश रहते हैं और हम उनका आनंद उठा सकते हैं। सामान्यतः इसका अर्थ यह है कि, पूरे मौसम के दौरान इन्हें बारंबार धोने की जरूरत नहीं होती। 

हालांकि, इसका मतलब यह बिल्कुल नहीं है कि हम उन्हें धोने में देर करने लगें, जब तक कि उनमें से दुर्गंध आना शुरू ना हो जाए और वो बिल्कुल भी पहनने के लायक नहीं रहें। तथ्य यह है कि, गर्मी के कपड़ों की तरह, ऊन भी मैल, कीट, शरीर के पसीने और तेल को सोखता है। 

तो, हम यह कैसे सुनिश्चित करें कि हमारे कपड़े फ्रेश रहें और साथ ही खुशबूदार भी? बस, इतना याद रखिए कि उन्हें पूरे मौसम के दौरान नियमित रूप से धोएं और हवा में सुखाएं, हालांकि कम बार यह करना है। पूरे सीजन के दौरान सामान्यतः आपके स्वेटर्स और कोट्स को दो या तीन बार धोना काफी है, लेकिन आपके अन्य ऊनी कपड़ों को अधिक बार नियमित धुलाई की जरूरत होती है। 

आइए देखते हैं कि आपके सर्दियों के वॉर्डरोब में से विभिन्न ऊनी कपड़ों को आप कैसे धो सकते हैं। 

ऊनी दस्ताने

आखिरी बार कब आपने अपने ऊनी दस्तानों को धोया था? भले ही आपका जवाब कभी नहीं हो, तो भी हमें आश्चर्य नहीं होगा, चूंकि यही अधिकांश लोगों के मामले में ऐसा ही है। हर बार सर्दियों में हम अपने दस्ताने पहनते हैं और आखिरकार हम विभिन्न बैक्टीरिया वाली सतहों को जैसे दरवाजे के हैंडल, लिफ्ट की पुश बटन आदि को छूते हैं। 

इसलिए, हमारे दस्तानों को ना धोना हमारे स्वास्थ्य के लिए गलत साबित हो सकता है। हम सलाह देते हैं कि दस्तानों को सर्दियों के महीने में कम से कम तीन से पांच बार धोएं। लेकिन, अगर आप दस्ताने पहन कर अधिक संपर्क वाली सतहों को बारंबार छूते रहते हैं, तो यह सर्वश्रेष्ठ होगा कि आप उन्हें हर बार प्रयोग करने के बाद धोएं। 

चूंकि ऊनी दस्ताने अधिक नमी को सोखते हैं और जल्दी आकार खो देते हैं, तो हम उन्हें हाथ से धोने की सलाह देते हैं। सबसे पहले, हम एक छोटा बेसिन ठंडे पानी से भर लेते हैं और फिर उस पानी में थोड़ा सा  Love & Care Soft Woollens Expert Care Wash Liquid मिलाते हैं। हमने देखा है कि ऊन अधिक तापमान वाले पानी और घर्षण के प्रति संवेदनशील होता है। इसलिए, हमने ठंडा पानी उपयोग किया और हल्के हाथ से धोएं।

बहुत से डिटर्जेंट के साथ कई बार ट्राय करने और बहुत सी गलतियां करने के बाद आखिरकार हमारी खोज Love & Care Soft Woollens Expert Care Wash Liquid Detergent पर आकर खत्म हुई। इसके लेबल को चेक करने के बाद हमने जाना कि इसमें ना ही ब्लीच है और ना ही एंजाइम हैं, इसलिए कोई आश्चर्य नहीं कि हमारे कपड़ों का रंग बरकरार रहता है और वो धुलाई के बाद भी अपना असली आकार नहीं खोते! एक और बात जो हमने नोटिस की वह यह कि हमारे ऊनी कपड़े नर्म महसूस हो रहे थे और उनमें एक अच्छी सी चमक थी, जिसकी वजह से वे बिल्कुल नए जैसे नजर आ रहे थे। 

हम कुछ समय पहले से अब तक  Love & Care Soft Woollens Expert Care Wash Liquid Detergent उपयोग कर रहे हैं, और हमने नोटिस किया कि इसके कोमल और pH संतुलित फॉर्मूला की वजह से हमारे ऊनी कपड़ों की लाइफ बढ़ गई है। 

फिर हमने डिटर्जेंट को एक समान मिलाने के लिए पानी को हल्के से घुमाया और दस्तानों को लगभग 5 मिनिट के लिए भिगो दिया। अतिरिक्त साबुन को साफ करने के लिए हमने धीरे से ठंडे पानी से तब तक खंगाला जब तक कि पानी में साबुन खत्म नहीं हो गई। हम Love & Care Soft Woollens Expert Care Wash Liquid Detergent के ईजी रिंस फॉर्मूला से बहुत अधिक प्रभावित हुए, और हम अपने दस्तानों को ज्यादा रिंस करने और फैब्रिक को खराब करने से बचे। लंबे समय में, हमने देखा कि यह हमारे दस्तानों की नर्म छुअन बरकरार रखता है। 

रिंस करने के बाद, हमने अतिरिक्त पानी निकालने के लिए हमारे दस्तानों को निचोड़ा नहीं। इसकी बजाय, हमने उनका आकार बिगड़ने से बचाने के लिए उन्हें दबा कर प्रेस करके उनसे पानी बाहर निकाल दिया।  

ऊनी टोपियां

चूंकि टोपी, ऊनी हैट आदि, सर्दियों के दौरान हमारे सिर को गर्म रखने में मददगार होते हैं, वे भी पसीने, मेकअप, और बालों के उत्पादों के संपर्क में आते हैं। हम सुझाव देंगे कि अगर आपकी टोपी या बैनी में कुछ सजावटी चीजें लगी हैं तो, उन्हें हमेशा अपने हाथों से धोएं, क्योंकि उसमें लगे हुए सलमा सितारे (अगर कुछ लगे हैं) वॉशिंग मशीन में धोने से खराब हो सकते हैं। 

हमने देखा है कि बुने हुए या क्रोशिया के हैट प्राकृतिक रेशों जैसे, ऊन, कॉटन या फ्लैक्स यहां तक कि मिश्रित रेशों से बने रहते हैं, उन्हें सावधानी से हाथों से ठंडे पानी से धोना चाहिए। हमारे साथ ऐसी घटना घट चुकी है जब सिर्फ एक बार ब्लीच और एंजाइम युक्त रेगुलर डिटर्जेंट कहर बनकर टूटा और हमारे पसंदीदा ऊनी कैप्स खराब हो गए।

वे ऊनी फैब्रिक पर अवशेष छोड़ जाते हैं, जिसकी वजह से कैप पर उलझी हुई पिल या बॉल्स उभर आती हैं। इसलिए, हमने ऊन के लिए विशेष रूप से विकसित किए गए डिटर्जेंट फॉर्मूला, जैसे Love & Care Soft Woollens Expert Care Wash Liquid Detergent को अपनाया। 

जब बात आती है हमारी सफेद कैप्स की, हमें ब्लीच प्रयोग करने की जरूरत होती है चूंकि यह एक बेहतरीन स्टेन रिमूवर भी होता है। हमारे अनुभव ने हमें सिखाया कि ब्लीच से कपड़े पर एक पीलापन विकसित हो जाता है जिसे वापस ठीक नहीं किया जा सकता। इसलिए, जब बात आती है हमारे कीमती ऊनी कपड़ों की हम हमेशा यह सुनिश्चित करते हैं कि ब्लीचिंग एजेंट पूरी तरह से साफ हो जाए। 

अपनी टोपियों को हाथों से धोने के बाद, हम उन्हें साफ टॉवेल पर रखकर दबा कर सोखा हुआ पानी निकाल देते हैं। 

गेट सेट क्लीन टिप

क्या आप अपने ऊनी कैप को धोने के बाद उसमें सिलवटें या कुछ सिकुड़न देखते हैं? चिंता मत कीजिए! हमेशा हाथों से धोने की विधि अपनाएं और उन्हें साफ टॉवेल पर दबा कर उनका पानी निकाल कर सुखाइए। 

सर्दियों के स्कार्फ्स

स्कार्फ्स हमें गर्माहट देने में बेहतरीन भूमिका अदा करते हैं, लेकिन साथ ही शरीर का तेल, पसीना, रुखी त्वचा की पपड़ी आदि को भी सोख लेते हैं। हमारे अनुभव से, पूरे मौसम के दौरान स्कार्फ्स को पांच से सात बार धोना काफी हो सकता है। 

हमने सीखा है कि विभिन्न तरह के स्कार्फ्स को अलग तरह से हैंडल करने की जरूरत होती है। उदाहरण के लिए, हमारे कीमती पश्मीना और कश्मीरी शॉल्स को  Love & Care Soft Woollens Expert Care Wash Liquid Detergent की कुछ बूंदे ठंडे पानी में मिलाकर, उन्हें हाथों से धोना चाहिए, यह उनकी राजसी आभा बनाए रखने में मददगार होता है। 

और, हम अपनी भारी ऊनी शॉल्स को किस तरह से धोएं और उन्हें नर्म बनाए रखें? तो, आप भारी शॉल्स को टॉवेल या स्वेटर्स के साथ धो सकते हैं, लेकिन नाजुक शिफॉन और हल्की कॉटन शॉल को अतिरिक्त देखभाल की जरूरत होती है। 

ऊनी स्कार्फ के लिए, हम बिल्कुल वही प्रक्रिया अपना सकते हैं जो हम हमारे ऊनी दस्तानों के लिए अपनाते हैं। भले ही आपके स्कार्फ के लेबल पर लिखा हो कि आप ड्रायर का उपयोग कर सकते हैं, फिर भी याद रखिए कि हवा में सुखाना फैब्रिक के लिए हमेशा अच्छा होता है। 

ऊनी मोजे

हम जानते हैं कि ऊनी मोजे पसीने को दूर रखते हैं और कॉटन मोजों से अधिक असरदार होते हैं और लंबे समय तक गंध रहित रहते हैं। लेकिन, इसका मतलब यह नहीं कि उन्हें धोने की जरूरत नहीं होती। इसलिए, ऊनी मोजों को धोने का सही तरीका क्या है? हमने पाया है कि हमारे ऊनी मोजों को हर 2 -3 दिन में धोना अच्छा होता है। 

समय बीतने पर, हमने देखा कि मोजों को देखभाल के साथ धोने की जरूरत होती है, नहीं तो वे अपना आकार खो देते हैं या जल्दी सिकुड़ जाते। उन्हें सही तरीके से धोना उनकी लाइफ बढ़ाने में भी मददगार साबित होता है।

अगर आपको निश्चित रूप से नहीं पता कि आपके मोजे किस तरह के ऊन से बने हैं, तब उन्हें हाथों से धोना सबसे सुरक्षित तरीका है। हम हमेशा मोजों को धोने से पहले उल्टा कर देते हैं यह ढीले लूप्स वाले मोजों के लिए विशेष रूप से सही काम करता है। इन लूप्स के बीच में बहुत सा मैल और कीट जमा हो जाता है। 

उच्च तापमान कपड़े को कमजोर कर सकता है और साथ ही रंगों को फीका कर सकता है, इसलिए हम हमेशा हमारे ऊनी मोजों को धोने के लिए ठंडे पानी उपयोग करते हैं। 

क्या आपको अपने सर्दियों के कपड़े धोने की जरूरत है? 

इस प्रश्न का उत्तर निश्चित रूप से हां ही है। हमने देखा है कि हमारे ऊनी कपड़ों की देखभाल और धुलाई करना ना केवल पसीने और रोजमर्रा के दागों से छुटकारा पाने का बेहतरीन तरीका है साथ ही यह उन्हें अगली सर्दियों के मौसम के लिए स्टोर करके रखने के लिए जरूरी भी है। 

मिट्टी लगे कपड़े फफूंद और कीड़ों को आकर्षित कर सकते हैं। उन्हें स्टोर करके रखने से पहले उन्हें साफ करना उन्हें अगले मौसम में भी बेहतरीन अवस्था में रहना सुनिश्चित करता है। इसलिए, कृपया आगे बढ़िए और उन्हें दीजिए नियमित धुलाई! 

यह टिप्स आपके ऊनी कपड़ों को खुशबूदार और लगातार अच्छा महसूस करने में मदद करेंगे। 

मूल रूप से प्रकाशित