इन सर्दियों के मौसम में आपकी ऊनी शॉल्स को मुलायम कैसे बनाएं

क्या आपने इन सर्दियों में अपनी पसंदीदा शॉल्स निकाल ली है लेकिन वे खुरदुरी और आपकी त्वचा के लिए आरामदायक नहीं हैं? परेशान ना हों! पढ़िए और जानिए कि इन सर्दियों के मौसम में आपकी ऊनी शॉल्स को कैसे मुलायम बनाया जा सकता है।

अपडेट किया गया

How to soften woollen shawls
विज्ञापन
Comfort core

सर्दियां खूबसूरत ऊनी शॉल्स का पर्याय होती हैं जो कि आपके व्यक्तित्व के खालीपन को भर देती हैं। उनमें से अधिकांश बेहतरीन क्वालिटी की होती हैं और विस्तृत डिजाइन को दर्शाती हैं। हालांकि, हमने देखा है कि समय बीतने पर हमारी ऊनी शॉल्स अपनी कोमलता, बनावट, और आकार को खोने लगती हैं। पुरानी शॉल्स में तो एक अजीब नमी युक्त गहरी दुर्गंध आती है जिसकी वजह से हम उन्हें अपने चारों ओर लपेटने से हिचकते हैं।

इन सर्दियों में, हम अपनी ऊनी शॉल्स की मूल चमक,  दिखावट और नर्मी वापस पाना चाहते हैं। कुछ कोशिशों और गलतियों के बाद,  हमने अपनी ऊनी शॉल्स को बिलकुल नई जैसी महसूस करने का एक सही समाधान पा ही लिया। इस प्रक्रिया को पूरा करने के लिए स्टेप बाय स्टेप जिस विधि का हमने पालन किया, जानने के लिए पढ़िए।

कपड़े की देखभाल का लेबल चेक कीजिए

हम जानते हैं कि कपड़े का प्रकार धुलाई की विधि निर्धारित करता है। ऊनी शॉल्स भी विभिन्न प्रकार की हो सकती हैं - पश्मीना, मैरिनो, अंगोरा, ब्लेंडेड, कश्मीरी इत्यादि। उनके लेबल में लिखा हुआ रहता है कि उन्हें हाथ से धो सकते हैं, मशीन में धो सकते हैं या सिर्फ ड्राईक्लीन किया जा सकता है।

अगर लेबल में लिखा हुआ है कि हाथ से या मशीन से धो सकते हैं तो, नीचे लिखे स्टेप्स के अनुसार आगे बढ़ें।

. . . . . . . . . . . . . . . .. . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . .. . . . . . . . . . . . . . .
You will need
. . . . . . . . . . . . . . . .. . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . .. . . . . . . . . . . . . . .
Requiredकंफर्ट आफ्टर वॉश फैब्रिक कंडीशनर
Comfort core
  • डिटर्जेंट
  • बेसिन/बाल्टी
  • टॉवेल
  • जालीदार वॉशिंग बैग

विज्ञापन

Comfort core

ऊनी शॉल्स को हाथों से कैसे धोएं

  1. चरण 1: धुलाई के लिए ठंडा पानी तैयार करें

    बेसिन या सिंक में 30 डिग्री सेल्सियस से नीचे का ठंडा/ गुनगुना पानी तैयार करने से शुरुआत करते हैं। हमने देखा है कि ऊन पानी के तापमान के लिए संवेदनशील होता है, और हमारे कुछ ऊनी शॉल्स सिकुड़ जाते हैं जब हम गर्म पानी इस्तेमाल करने की कोशिश करते हैं। सही तापमान सेट करने के बाद, हम हल्के डिटर्जेंट की सही मात्रा पानी में मिलाएंगे।

  2. चरण 2: धुलाई के पानी में ऊनी शॉल्स पूरी तरह से डुबो देंगे

    आगे, हम ऊनी शॉल्स को पूरी तरह से पानी में डुबो देंगे साथ ही आराम से हाथों से पानी को हिलाते हुए यह सुनिश्चित करेंगे कि डिटर्जेंट एक समान रूप से घुल गया है। इस डिटर्जेंट के घोल में शॉल को लगभग 30 मिनिट तक भिगोकर रखेंगे।

  3. चरण 3: अच्छी तरह से धोएं

    ऊनी शॉल को बहते हुए पानी के नीचे अच्छी तरह से लगातार तब तक धोएं जब तक कि साफ पानी ना बहने लगे, यह संकेत है कि सारा डिटर्जेंट निकल कर साफ हो गया है। इस चरण के दौरान, आपको पानी में कुछ रंग नजर आ सकता है। लेकिन बिल्कुल परेशान मत होइए, हालांकि जब पहली बार हमारे साथ यह हुआ था हम भी परेशान हो गए थे। फिर भी, हमने यह महसूस किया कि यह बिल्कुल सामान्य है, क्योंकि धागा केवल अतिरिक्त रंग छोड़ता है। एक बार पूरी तरह से धुलने के बाद हमने रंग छूटने का कोई प्रमाण नहीं देखा।

  4. चरण 4: फैब्रिक कंडीशनर उपयोग करें

    हमें यह महसूस करने में जरा भी वक्त नहीं लगा कि ऊनी शॉल्स की अच्छी तरह देखभाल करने के लिए केवल डिटर्जेंट काफी नहीं होता। हमें कुछ और भी चाहिए जो हमारे पुराने ऊनी शॉल्स की नमी, चमक और ताजगी वापस ला सके। हमारी खोज बीन के दौरान हमें फैब्रिक कंडीशनर के बारे में जानकारी मिली।

    हमने जाना कि फैब्रिक कंडीशनर ऊनी शॉल्स के हर एक रेशे पर सुरक्षा परत चढ़ा देता है। इसलिए,  यह बार- बार धुलने से कपड़े को होने वाले किसी भी तरह के नुकसान से बचाता है। हमने अपने पुराने शॉल्स को पुनर्जीवित करने के लिए सही फैब्रिक कंडीशनर खोजना शुरू किया। जब हम सुपर मार्केट में विभिन्न प्रोडक्ट्स को जांच रहे थे, तब हमने कंफर्ट आफ्टर वॉश फैब्रिक कंडीशनर देखा। इसके लेबल में लिखा हुआ था कि लंबे समय तक ताजगी प्रदान करने के साथ ही, यह निश्चित रूप से कपड़े को नरमाई भी देता है जिसे देखा और महसूस किया जा सकता है।

    बोतल पर लिखे निर्देशों के अनुसार, हमने एक बाल्टी पानी में आधा कैप फैब्रिक कंडीशनर मिलाया और हमारे कपड़ों को 5 मिनिट के लिए इस घोल में भिगोकर रखा।

  5. चरण 5: कपड़ों को निकालें और सुखाएं

    भिगोने के बाद, हमने कपड़ों को घोल में से निकाल लिया और उन्हें सूखने डाल दिया। कंफर्ट आफ्टर वॉश फैब्रिक कंडीशनर के लेबल पर लिखा हुआ है कि इस चरण पर आकर कपड़ों को फिर से धोने की कोई जरूरत नहीं है। साथ ही, अतिरिक्त पानी निकालने के लिए निचोड़ने या लटकाने की भी जरूरत नहीं है, क्योंकि ऐसा करने से उनका आकार बिगड़ सकता है। और, लटकाने की बजाय, हम सुझाव देंगे कि इन्हें सतह पर एक साफ टॉवेल के ऊपर सीधा बिछाकर और सूर्य की सीधी धूप से दूर सुखाना चाहिए।

    एक बार सूखने पर, एक बात जो हमने देखी वह यह थी कि हमारे ऊनी शॉल्स छूने में बेहद मुलायम महसूस हुए, बिल्कुल वैसे जैसे जब हमने उन्हें खरीदा था। साथ ही, ये ताजगी भरी प्यारी खुशबू से सराबोर थे जो कि लंबे समय तक बरकरार रही, लगभग 14 दिनों तक, इससे हमें यह महसूस हुआ कि जैसे शॉल हालही में धोई गई है।

ऊनी शॉल को मशीन में कैसे धोएं

  1. चरण 1: शॉल को जालीदार वाशिंग बैग में रखिए

    चूंकि अन्य कपड़े भी धुलाई चक्र के लोड में शामिल रहते हैं, इसलिए हम सुझाव देंगे कि शॉल्स को एक जालीदार वॉशिंग बैग में डालकर रखिए।  यह ऊनी शॉल्स के नाजुक कपड़े को अन्य कपड़ों के हुक्स, जिपर्स, पॉकेट्स आदि से होने वाले नुकसान से बचाएगा।

  2. चरण 2: सही चक्र का चुनाव करें

    वॉशिंग मशीन में डेलिकेट चक्र का उपयोग करें या अगर आपकी मशीन में वूलंस चक्र का विकल्प है तो उसे उपयोग करें। साथ ही, सुनिश्चित करें कि पानी का तापमान ठंडा हो और स्पिन कम हो। इस चरण में यह सुनिश्चित होना चाहिए कि ऊनी शॉल्स को जितनी हो सके उतनी कोमल धुलाई मिले और वो भी बिना किसी अतिरिक्त घुमाव के। उसके बाद लोड के साइज के अनुसार उपयुक्त मात्रा में हल्के डिटर्जेंट ( प्राथमिकतादें)  मिलाएं।

  3. चरण 3: फैब्रिक कंडीशनर मिलाएं

    चूंकि हमारे पास फ्रंट लोड वॉशिंग मशीन है इसलिए हमने डिटर्जेंट मिलाते समय सॉफ्टनर कंपार्टमेंट में एक कैप कंफर्ट आफ्टर वॉश फैब्रिक कंडीशनर मिलाया। हालांकि, टॉप लोड वॉशिंग मशीन के मामले में यदि कोई सॉफ्टनर कंपार्टमेंट नहीं है तो एक कैप फैब्रिक कंडीशनर धुलाई चक्र की शुरुआत में ही मिला दीजिए।

    इसे आखिरी धुलाई चक्र में सीधे मशीन के टब में भी डाला जा सकता है,  सेमी ऑटोमेटिक वॉशिंग में भी ऐसा ही किया जा सकता है।

  4. चरण 4: कपड़ों को सुखाएं

    एक बार जब धुलाई पूरी हो जाए, किसी भी तरह की सिलवटें पड़ने से बचाने के लिए ऊनी शॉल्स सबसे जल्दी मशीन से बाहर निकाल लीजिए। ऊनी कपड़ों को सुखाने के दौरान सीधी धूप से हमेशा जरूर बचाव करें, क्योंकि इससे ऊनी शॉल्स सिकुड़ सकते हैं या डैमेज हो सकते हैं।

    सूखने के बाद, हमने देखा कि फैब्रिक कंडीशनर ने अपना काम बहुत अच्छे से किया और हमारे ऊनी शॉल्स का रंग, बुनावट, और आकार धुलाई के बाद भी ज्यों के त्यों थे।

    हम उम्मीद करते हैं कि यह सरल स्टेप बाय स्टेप प्रक्रिया आपके पुराने ऊनी शॉल्स को नई सांसे देंगी और उन्हें नया जीवन मिलेगा।

सीक्रेट टिप: आप भारत के सर्वश्रेष्ठ ब्रांड्स यहां फ्री में भी ट्राय कर सकते हैं।

मूल रूप से प्रकाशित