पीतल के शोपीस दिख रहे हैं पुराने? चमकाएं इन्हें ख़ास तरीक़ों से!

डेकोरेटिव शोपीस घर की सजावट में चार-चांद लगाते हैं, मगर जब ये पुराने नज़र आते हैं तो घर की ख़ूबसूरती बिगड़ सकती है। आइए जानें इन्हें साफ़ करने के तरीक़े।

अपडेट किया गया

अपने पीतल के शोपीस को कैसे चमकाएं | गेट सेट क्लीन
विज्ञापन
Domex Disinfectant Floor Cleaner

ज़्यादातर शोपीस पीतल से बने होते हैं। अगर इनकी सही तरीक़े से देखभाल न की जाए तो ये जल्द ही अपनी चमक खोने लगते हैं और पुराने नज़र आते हैं। उन्हें फिर से पहले की तरह यूं चमकाएं।

पीतल के शोपीस को जब भी धोएं, उन्हें तुरंत सूखे कपड़े से पोछें। वरना इसपर पानी का दाग़ पड़ सकता है।

१) टूथपेस्ट से चमकाएं

डेकोरेटिव शोपीस को चमकाने के लिए आप टूथपेस्ट का इस्तेमाल कर सकते हैं। सबसे पहले मुलायम कपड़े पर थोड़ा सा टूथपेस्ट लगाएं। इसे शोपीस की सतह पर लगाकर १० मिनट के लिए ऐसे ही छोड़ दें। थोड़ी देर बाद इसे पेपर टॉवल या मुलायम कपड़े से पोछें। इससे शोपीस फिर नए जैसे नज़र आएंगे।

२) टोमैटो केचप से चमकाएं

विज्ञापन

Domex Disinfectant Floor Cleaner

शोपीस को चमकाने के लिए टमाटर केचप भी कारगर साबित हो सकता है। केचप पीतल से धूल और कालेपन को आसानी से दूर कर सकता है। इसलिए मुलायम कपड़े पर केचप लें और शोपीस पर रगड़ें। आख़िर में बाउल भर गुनगुने पानी साफ़ कपड़ा डुबोएं और शोपीस को साफ़ करें। फिर सूखे कपड़े से फिर से पोछें। इससे आपका शोपीस दोबारा चमकने लगेगा।

३) विनेगर और आटे से चमकाएं

शोपीस को चमकाने के लिए बाउल में १ बड़ा चम्मच आटा, २ छोटे चम्मच पानी और २ छोटे चम्मच विनेगर मिलाकर गाढ़ा मिश्रण तैयार करें। मिश्रण को शोपीस पर लगाएं और मिश्रण सूखने तक इंतजार करें। मिश्रण सूखने के बाद इसे शोपीस से अलग करें। फिर बाउलभर पानी में १ छोटा चम्मच डिटर्जेंट पाउडर मिलाकर घोल तैयार करें। तैयार घोल में कपड़ा डुबोकर शोपीस को पोछें। आख़िर में, शोपीस को साफ़ सुखे कपड़े से पोछें। तो इस तरह आपके शोपीस चमकने लगेंगे।

४) नींबू से चमकाएं

सबसे पहले, नींबू को बीच से काटकर उसपर नमक छिड़कें। अब नमक-युक्त नींबू को पीतल की सतह पर रगड़ें और इसे १० मिनट के लिए ऐसे ही छोड़ दें। फिर शोपीस को साफ़ पानी से धोएं। आख़िर में, इसे सूखे कपड़े से पोछें। इस आसान तरीक़े से आपके शोपीस चमकेंगे।

इन असरदार तरीक़ों से आप अपने पीतल के शोपीस को चमका सकते हैं।

मूल रूप से प्रकाशित