डी आई वाई तरीके जिससे आप अपने वॉटर प्यूरिफायर को ठीक कर सकते हैं

वॉटर प्यूरिफायर के ढेर सारे सेहतमंद फायदों की वजह से वे देश के हर घर का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन चुके हैं। जिस तरह हम सुरक्षित पानी पीने के फायदे बटोरते हैं उसी तरह यह ज़रूरी है कि हम उसके साफ़ पानी देने की क्षमता को लम्बे समय तक बरकरार रखें उसका अच्छे से ख़याल रख कर। आइए देखें वॉटर प्यूरिफायर में पाए जाने वाले आम मुद्दे और उनके आसान सुझाव।

अपडेट किया गया

आपने घर की प्लास्टिक की बोतलों का दोबारा कैसे उपयोग करें | गेट सेट क्लीन

आर ओ प्यूरिफायर काम नहीं कर रहा

डी आई वाई तरीके जिससे आप अपने वॉटर प्यूरिफायर को ठीक कर सकते हैं

जब आप आर ओ (रिवर्स ओसमोसिस ) वॉटर प्यूरिफायर को चालू करते हैं और उसकी एल ई डी लाइट नहीं जलती या उसमें से आवाज़ नहीं आती, मतलब पावर का केबल ख़राब हो चूका है और उसे बदलने का वक़्त आ गया है।

पानी का बहाव बहुत कम है

डी आई वाई तरीके जिससे आप अपने वॉटर प्यूरिफायर को ठीक कर सकते हैं

विज्ञापन

Surf Excel Matic Liquid

अगर पानी का बहाव बहुत धीमा है, मतलब कोई फ़िल्टर घुट चुका है और उसे बदल देना चाहिए। फैसला करने से पहले एक प्रोफेशनल को दिखाना ज़रूरी है ताकि वो जांच सके कि बदलाव ज़रूरी है या नहीं।

पानी बदबूदार या दूषित होने लगे

डी आई वाई तरीके जिससे आप अपने वॉटर प्यूरिफायर को ठीक कर सकते हैं

अगर आपने अपने किचन में नया आर ओ या कोई साधारण प्यूरिफायर लगाया है, सुनिश्चित करें कि उसमें  से निकला पानी पीने से पहले, कम से कम एक बार पूरी टंकी को खाली करें। अगर आपका प्यूरिफायर नया नहीं है फिर भी आपको कोई परेशानी है तो फिर फ़िल्टर या मेम्ब्रेन घुट चूका है और उसे बदलने का वक़्त आ गया है।

पानी का लीकेज

डी आई वाई तरीके जिससे आप अपने वॉटर प्यूरिफायर को ठीक कर सकते हैं

अगर फ़िल्टर में से पानी लीक हो रहा है मतलब उसके पुर्ज़े बराबर नहीं हैं। उन्हें अच्छे से ठीक कर लें।  यदि पानी का प्रेशर तेज़ है तो नल की जांच कर लें और देखें की कहीं कोई पुर्ज़े ढीले नहीं पड़ गए।

कंपन (वाइब्रेशन)

डी आई वाई तरीके जिससे आप अपने वॉटर प्यूरिफायर को ठीक कर सकते हैं

अगर आपने हाली में फ़िल्टर बदला है तो हो सकता है आपको प्यूरिफायर में कंपन दिखे। विभिन्न फिल्टर के बीच दबाव में अंतर के कारण कंपन होता है। यह ज़्यादातर ३-४ दिनों में गायब हो जाते हैं और इससे कोई नुक्सान नहीं होता।

मूल रूप से प्रकाशित